Ads (728x90)



श्रावण मास (shravan month) के शुक्ल पक्ष (sukla paksh) की पंचमी (Panchami) को नाग पंचमी (Nag Panchami) कहते हैं, नाग पंचमी (Nag Panchami) को नागों/सर्पो की पूजा (naag ki pooja) का विशेष महत्‍व होता हैंं, आईये जानते हैं  नाग पंचमी का महत्व (Nag Panchami Ka Mahatva) - 

नाग पंचमी का महत्व - Nag Panchami Ka Mahatva

नाग पंचमी (Nag Panchami) का त्‍यौहार सावन के महीने (Sawan ke mahine) में आता है, हिंदु मान्‍यता (Hindu mythology) के अनुसार पृथ्वी शेषनाग के फन पर टिकी है और भगवान शिव जी भी सर्प माला को पहने रहते हैं इसलिये सर्प को देवता के रूप में पूजा जाता है, भारत में नागों की पूजा करने का एक वैज्ञानिक कारण भी है, खेतों में फसलों को नुकसान पहुॅचानें वाले चूहे आदि जीवों का सर्प नष्‍ट कर देता है, जिससे किसानों की फसल सुरक्षित रहती है।
एक कहानी केे अनुसार एक सर्प ने भाई बनकर अपनी बहन की सुरक्षा की थी और भाई का फर्ज निभाया था, इसलिये इस दिन महिलायें नागों को दूध पिलाती हैं और उसमें प्रार्थना करती हैं उनकीी और उनके परिवार की सुुरक्षा करें।

नाग पंचमी पूजा विधि - Nag Panchami Puja Vidhi

नाग पंचमी (Nag Panchami) के दिन घर के सभी दरवाजों पर खड़िया (KHADIYA) से छोटी-छोटी चौकोर जगह की पुताई की जाती है और कोयले को दूध में घिसकर मुख्‍यत दरवारों बाहर दोनों तरफ, मंदिर के दरवाजे पर और रसोई में नाग देवता (nag devta) के चिञ बनाये जाते हैं, आज-कल यह चिञ बाजारों में मिलते हैं, जिन्‍हें आप इस्‍तेमाल कर सकते हैं, नागों की पूजा मीठी सेंवई खीर (Sewai Kheer) से की जाती हैं और इस दिन नागों को दूध पिलाने की परंपरा है, जिसके लिये खेतों में या किसी ऐसे स्‍थान पर जहॉ सर्प होने की संभावना हो वहॉ एक कटोरी में दूध रखा जाता है। 

नाग पंचमी पूजा स्‍टीकर डाउनलोड करें - Nag Panchami Pooja Sticker Download


Nag Panchami pictures, images, graphics, photos, nag panchami, Naag Panchami festival, rituals, significance and importance, how to do nag panchami pooja at home, NAG PANCHAMI PUJAN, Nag Panchami Information In Hindi



Post a Comment

1. हिन्‍दी होम टिप्‍स आपके लिये बनाई गयी है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत लेखों के बारे में आपकी विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी सही टिप्‍पणी हिन्‍दी होम टिप्‍स को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
आप हमें इन सोशल नेटविर्कंग साइट पर भी फॉलो कर सकते हैं -
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का फेसबुक पेज
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का गूगल+ पेज