श्रावण (shravan mass) कृष्ण पक्ष (krishna paksha) की अमावस्या (amavasya) को हरियाली अमावस्या (Hariyali Amavasya) कहते हैं। हरियाली अमावस्या का त्यौहार (hariyali amavasya ka tyohar) सावन (Sawan) में पड़ने वाली अमावस्या (Amavasya) के दिन मनाया जाता है आईये जानते हैं -  हरियाली अमावस्या का महत्व (Hariyali Amavasya Ka Mahatva ) - 

हरियाली अमावस्या का महत्व - Hariyali Amavasya Ka Mahatva

हरियाली अमावस्या (Hariyali Amavasya) के दिन पीपल के पेड़ (pipal tree) की पूजा की जाती है और मीठे पुए या गुलगुले का प्रसाद बांटते है इस दिन पेड़ लगाने का भी महत्व होता है कहते है की एक पेड़ दस बेटोंं के बराबर होता है और पेड़ लगाने से हमारे मन को सुख शांति मिलती है और आस पास का वातावरण भी हरा भरा होता है, इस दृष्टि बहुत ही अच्‍छा है।

ऐसी मान्‍यता है की हरियाली अमावस्या के दिन शिवजी पर जल चढ़ाने से कालसर्प दोष (kalsarpa dosh), शनि की साढ़ेसाती (shani ki sade sati), शनि का ढैया (shani dhaiya) एवं पितृ दोष (pitra dosh) से राहत मिलती है।

तो हरियाली अमावस्‍या मनाईये अौर पेड लगाकर अपने अासपास केे वातावरण काे हराभरा बनाईये।

significance of hariyali amavasya, hariyali amavasya puja, importance, Hariyali Amavasya Celebration, Hariyali Amavasya, Hariyali Amas



Post a Comment

1. हिन्‍दी होम टिप्‍स आपके लिये बनाई गयी है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत लेखों के बारे में आपकी विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी सही टिप्‍पणी हिन्‍दी होम टिप्‍स को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
आप हमें इन सोशल नेटविर्कंग साइट पर भी फॉलो कर सकते हैं -
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का फेसबुक पेज
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का गूगल+ पेज