Ads (728x90)



अश्विन माह में शुक्‍ल पक्ष ( Shukla Paksh ) की एकादशी ( Ekadashi ) तिथि को पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) करते हैं। पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) समस्त पापों का नाश करने वाली एकादशी ( Ekadashi ) होती है, आईये जानते हैं पापांकुशा एकादशी व्रत का महत्‍व ( Papankusha Ekadashi ka Mahatva ) -

पापांकुशा एकादशी व्रत का महत्‍व - Papankusha Ekadashi ka Mahatva

एकादशी प्रत्येक माह में दो बार आती है यानि साल में 24 बार। विशेष मास में आने वाली दो एकादशी को जोड़ कर कुल 26 एकादशी होती हैं। ऐसी मान्‍यता है कि जो मनुष्‍य पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) का व्रत रखता है उसके समस्‍त प्रकार के पाप नष्‍ट हो जाते हैं, पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) का व्रत रखने वाला व्‍यक्ति कभी यमराज को नहीं देखता । पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) को भगवान पद्मनाभ ( Padmanabha ) यानि भगवान विष्‍णु की पूजा की जाती है। 

Vrat Karne ki Vidhi  - व्रत करने की विधि 

यह मान्यता है कि पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi ) का व्रत एक दिन पहले  दशमी तिथि की रात्रि से ही शुरू करना चाहिए, एकादशी को सुबह जल्दी उठकर नहाधोकर भगवान विष्णु/पद्मनाभ ( Padmanabha ) की प्रतिमा के समक्ष व्रत का संकल्प लेना चाहिये तथा पूरे दिन उपवास रखना चाहिये, अगर भूखे न रह सकें तो व्रत में फलाहार करना चाहिये।

भगवान विष्‍णु की पूजा करने से पहले भगवान को पंचामृत से स्नान कराना चाहिए। इसके बाद भगवान को गंध, पुष्प, धूप, दीपक, नैवेद्य आदि पूजन सामग्री अर्पित कर, विष्णु सहस्त्रनाम ( Vishnu Sahasranamam ) का जाप करना चाहिये।

Tag  - papankusha ekadashi, death on papankusha ekadashi, importance of papankusha ekadashi, papankusha ekadashi vrat katha hindi, pashankusha ekadashi story, papankusha ekadashi meaning, papankusha sadhna



Post a Comment

1. हिन्‍दी होम टिप्‍स आपके लिये बनाई गयी है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत लेखों के बारे में आपकी विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी सही टिप्‍पणी हिन्‍दी होम टिप्‍स को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
आप हमें इन सोशल नेटविर्कंग साइट पर भी फॉलो कर सकते हैं -
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का फेसबुक पेज
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का गूगल+ पेज