सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) पौष माह (Paush Maas) के कृष्णपक्ष (Krishna Paksha) में एकादशी (Ekadashi ) को कहते हैं, सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) का व्रत महत्वपूर्ण होता है, सफला एकादशी (Saphala Ekadashi) के दिन भगवान विष्‍णु की पूजा का विधान है आईये जानते हैं सफला एकादशी का महत्व (Saphala Ekadashi Ka Mahatva) -

सफला एकादशी का महत्व - Saphala Ekadashi Ka Mahatva

सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) पौष माह (Paush Maas) के कृष्णपक्ष (Krishna Paksha) की ग्यारहवीं तिथि को मनाया जाती है यह मान्यता है जो "सफला एकादशी व्रत (Saphala Ekadasi Vrat) विधिपूर्वक व्रत करने वाले व्‍यक्ति के सभी पापों का अंत होता है, सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) के दिन भगवान विष्‍णु की पूजा का विधान है, शास्त्रों के अनुसार यह एकादशी अपने नाम के अनुसार मनोकामना सफल करने वाली एकादशी है। सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) के दिन सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) श्री विष्णु सहस्रनाम (Sri Vishnu Sahasranama) का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है।

सफला एकादशी ( Saphala Ekadashi ) के दिन व्रत रखना चाहिए तथा दीप, धूप, नारियल, फल, सुपारी आदि से भगवान भगवान विष्‍णु की पूजा करनी चाहिये और पूजा करने बाद भगवान विष्णु की आरती कर भगवान विष्‍णु को भोग लगाना चाहिये। 

Tag - Saphala Ekadasi in hindi, importance of saphala ekadashi, Saphala Ekadashi: Significance, Metaphysics Knowledge in hindi


loading...

Post a Comment

1. हिन्‍दी होम टिप्‍स आपके लिये बनाई गयी है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत लेखों के बारे में आपकी विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी सही टिप्‍पणी हिन्‍दी होम टिप्‍स को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
आप हमें इन सोशल नेटविर्कंग साइट पर भी फॉलो कर सकते हैं -
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का फेसबुक पेज
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का गूगल+ पेज