Ads (728x90)



नवरात्री (Navaratri) एक हिन्दुओं का पावन पर्व है, यह पर्व नौ दिनों तक चलता है नवरात्री (Navaratri) में देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है नवरात्रि के सातवें दिन माँ कालरात्रि (Maa kalratri) की पूजा अर्चना की जाती है माँ कालरात्रि (Maa kalratri) माँ कालरात्रि का स्वरूप देखने में अत्यंत भयानक है, लेकिन ये सदैव शुभ फल  देने वाली हैं  तो आईये जानते हैं नवरात्रि का सातवाँ  दिन- (Navratri Ka Saatavaan Din)



नवरात्रि का सातवाँ  दिन About The Seventh  Day Of Navaratri

नवरात्रि का सातवाँ दिन माँ कालरात्रि (Maa kalratri) का दिन है माँ कालरात्रि (Maa kalratri) का रूप देखनें में बहुत ही भयानक है माँ कालरात्रि (Maa kalratri) का एक नाम 'शुभंकारी' भी है इनके शरीर का रंग घने अंधकार की तरह एकदम काला है। सिर के बाल बिखरे हुए हैं। गले में बिजली की तरह चमकने वाली माला है। इनके तीन नेत्र हैं। ये तीनों नेत्र ब्रह्मांड के समान गोल हैं। माँ की नासिका के श्वास-प्रश्वास से अग्नि की भयंकर ज्वालाएँ निकलती रहती हैं। इनका वाहन गर्दभ (गदहा) है। ये ऊपर उठे हुए दाहिने हाथ की वरमुद्रा से सभी को वर प्रदान करती हैं। दाहिनी तरफ का नीचे वाला हाथ अभयमुद्रा में है। बाईं तरफ के ऊपर वाले हाथ में लोहे का काँटा तथा नीचे वाले हाथ में खड्ग (कटार) है।

एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता | लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी || वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा | वर्धन्मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयन्करि ||

एक समय जब दैत्य शुम्भ निःशुम्भ और रक्तबीज ने तीनों लोकों में हाहाकार मचा दिया था तब सभी देवता गण शिवजी के पास गये थे तब शिवजी ने पार्वती जी से अपने भक्तों रक्षा करने को कहा तब शिवजी की बात मान कर देवी पार्वती ने कालरात्रि का रूप धारण किया था और शुम्भ निःशुम्भ का वध किया 

Tag -Maa Kalratri is 7th day of Navratri, Maa Kalratri Mantra Meaning And Benefits, Maa Kalratri story in Hindi, Mata Kaalratri | Facts And Mantra In Hindi, Maa Kalratri is 7th day of Navratri



Post a Comment

1. हिन्‍दी होम टिप्‍स आपके लिये बनाई गयी है।
2. इसलिये हम अापसे यहॉ प्रस्‍तुत लेखों के बारे में आपकी विचार और टिप्‍पणी की अपेक्षा रखते हैं।
3. आपकी सही टिप्‍पणी हिन्‍दी होम टिप्‍स को सुधारने और मजबूत बनाने में हमारी सहायता करेगी।
4. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
आप हमें इन सोशल नेटविर्कंग साइट पर भी फॉलो कर सकते हैं -
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का फेसबुक पेज
*हिन्‍दी होम टिप्‍स का गूगल+ पेज